कुत्ते रात में ही क्यों भोंकते हैं? जानिए कारण।

कुत्ते रात में क्यों रोते हैं?

आखिरकार कुत्ते रात में ही क्यों भोंकते हैं? इसका कारण क्या हो सकता है? इस सवाल का जवाब चाहिए तो पूरा लेख जरूर पढ़ें। 

कुत्ते रात में ही क्यों भोंकते हैं?

हम सब जानते हैं कि कुत्ता एक वफादार जानवर है। कुत्ते में सूंघने की क्षमता बहुत अधिक होती है यह जानवर किसी भी प्राणी की आहट जल्दी सुन लेते हैं।

       कुत्ते किसी भी गंध को सूंघने के बाद वह अपने मस्तिष्क तांत्रिका में सुरक्षित रख लेते हैं।

किसी भी प्राणी के गंध या उसके बोलने के उच्चारण यदि रात के समय महसूस किया जाए तो शांत वातावरण होने के चलते हैं वह जल्दी से मस्तिष्क तांत्रिका में कुत्ते सुरक्षित कर लेते हैं।

दिन के समय वातावरण शांत नहीं होने के चलते तथा साथ में दिन में सूर्य के प्रकाश के कारण प्राणी के पसीने या गंध जल्दी वाष्पित हो जाता है। इसलिए किसी भी प्राणी का गंध कुत्ते के मस्तिक में समाहित नहीं हो पाते।

लेकिन रात के समय कुत्ते को शांत वातावरण होने के कारण गंद और किसी प्राणी का आहट अधिक सुनाई और महसूस होता है जिसके कारण कुत्ते हमेशा चौकाना रहते हैं और जरा सी आहट सुनाई पड़ने पर जोर-जोर से भोंकने लगते हैं।

संबधित प्रश्न - 


1. कुत्ते के भौंकने से क्या होता है?

उत्तर -  कुत्ते की भौंकने से कुछ नहीं होता है।

 2 . कुत्तों को रात में क्या दिखाई देता है?

उत्तर - ( थोड़ा थोड़ा )

3. क्या कुत्ते को भूत दिखाई देते हैं?

उत्तर  - नहीं

निष्कर्ष -

कुत्ते रात में क्यों रोते हैं इस प्रश्न का उत्तर क्या आपको पता था हमें कमेंट में बताएं तथा अपने दोस्तों के पास शेयर करें।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने