प्राकृतिक संसाधन किसे कहते हैं तथा इसके प्रकार,महत्व, और संरक्षण के उपाय

प्राकृतिक संसाधन की परिभाषा 

प्राकृतिक संसाधन वह संसाधन है जो प्रकृति द्वारा निर्मित है। जिसको बनाने में मानव का कोई हाथ नहीं है।
     साधारण शब्दों में प्राकृतिक संसाधन उसे कहा जाता है जो स्वयं निर्मित है। जैसे झील, नदी, भूमि आदि।

प्राकृतिक संसाधन के नाम या उदाहरण - सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, वन्य जीव जंतु, पेड़ पौधे, कोयला, झील, समुद्र, जल, नदी आदि।



प्राकृतिक संसाधन का वर्गीकरण 

मुख्य रूप से दो प्राकृतिक संसाधन के प्रकार है -

1. नवीकरणीय संसाधन

2. अनवीकरणीय संसाधन

1. नवीकरणीय संसाधन किसे कहते हैं ?


नवीकरणीय संसाधन वह संसाधन जो कभी समाप्त नहीं हो सकता। अर्थात साधारण शब्दों में नवीकरणीय संसाधन एक ऐसा संसाधन है जिसका इस्तेमाल बार बार किया जा सकता है लेकिन वह कभी समाप्त नहीं होगा। 

नवीकरणीय प्राकृतिक संसाधन का उदाहरण है - सौर ऊर्जा पवन ऊर्जा आदि है। सौर ऊर्जा तथा पवन ऊर्जा एक ऐसी ऊर्जा है जो कभी समाप्त नहीं हो सकता।

2. अनवीकरणीय संसाधन किसे कहते हैं ?

अनवीकरणीय संसाधन वह संसाधन जिसका इस्तेमाल करने से वाह एक बार में ही समाप्त हो जाता है। 

नवीकरणीय संसाधन का उदाहरण में कोयला, पेट्रोलियम आदि प्रमुख है। कोयला तथा पेट्रोलियम एक बार इस्तेमाल करने से समाप्त हो जाता है।

प्राकृतिक संसाधन का महत्व -


प्राकृतिक संसाधन मानव के लिए एक वरदान है। क्योंकि मानव इसी प्राकृतिक संसाधन से ही अपने सारी आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। वनों से लकड़ी जल गाड़ी चलाने के लिए पेट्रोल डीजल आदि अनेकों प्रकार की आवश्यकताओं की पूर्ति इसी प्राकृतिक संसाधन से होता है। 

     हमारे जीवन में प्राकृतिक संसाधन का इसलिए भी महत्व है क्योंकि इसी से बिजली के लिए सौर ऊर्जा तथा पवन ऊर्जा मिलती है । तथा पृथ्वी में अनेकों प्रकार की खनिज संपदाएं हैं जो मानव की आवश्यकताओं की पूर्ति करता आ रहा है और करता रहेगा।

प्राकृतिक संसाधन का संरक्षण एवं प्रबंधन

प्रकृति संसाधन हमारे लिए काफी महत्व है। इसलिए इस संसाधन का उपयोग सीमित रूप से करना होगा ताकि आने वाली पीढ़ियां इसका इस्तेमाल कर सकें इसलिए इसका संरक्षण भी काफी आवश्यक है हमने नीचे प्राकृतिक संसाधन का संरक्षण एवं प्रबंधन कि कुछ बातें बताइए गई है -

1. सीमित उपयोग - प्राकृतिक संसाधन में कुछ संसाधन ऐसे हैं जिसका इस्तेमाल सीमित होना चाहिए जैसे कोयला चुना पेट्रोलियम आदि। क्योंकि इसका सीमित इस्तेमाल नहीं करने से एक दिन यह खनिज संसाधन समाप्त हो जाएंगे।

2. जागरूकता - प्राकृतिक संसाधन को बचाने का एक उपाय अभी है कि लोगों को जागरूक किया जाए क्योंकि जागरूक होने से ही प्राकृतिक संसाधन का सीमित उपयोग होगा।

प्राकृतिक संसाधन से संबंधित प्रश्न

Q. 
विश्व में सबसे तेजी से कम होने वाला प्राकृतिक संसाधन क्या है?
उत्तर  -  वन 

Q. प्राकृतिक संसाधनों के दो प्रकार कौन से हैं?

उत्तर  - नवीकरणीय संसाधन तथा अनवीकरणीय संसाधन

Q. प्राकृतिक संसाधन के 10 उदाहरण दीजिए?

Ans - पानी, वायु, झरना, समुद्र, प्राणी, सूरज, चांद, ग्रह, पेड़ आदि 

उपर्युक्त लिखे हुए बातों को पढ़कर आपने समझ लिया होगा कि prakritik sansadhan kise kahate hain तथा इसके साथ ही प्राकृतिक संसाधन का वर्गीकरण, प्राकृतिक संसाधन का महत्व और प्राकृतिक संसाधन का संरक्षण एवं प्रबंधन । 
      यह पोस्ट आपके लिए कितना लाभदायक हुआ आप कॉमेंट में जरूर बताएं तथा अपने क्लास के दोस्तों के पास शेयर भी करें ।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने