आखिर sri lanka kab azad hua ? शायद आप में से कई लोग यह नहीं जानते होंगे। लेकिन आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है हमने डिटेल में इसके बारे में जानकारी दी है।

श्रीलंका कब आजाद हुआ 4 फरवरी 1948

श्रीलंका का इतिहास ( history of sri lanka In hindi )

श्रीलंका का इतिहास काफी बड़ी और विशाल है लेकिन हम संक्षेप में जानेंगे लेकिन इससे हम संक्षेप में जानेंगे।
  • ‌श्रीलंका में सबसे पहले यूरोपियों ने व्यापार के जरिए कदम रखा। पुर्तगाल ने श्रीलंका की वर्तमान राजधानी कोलंबस में व्यापार का केंद्र बनाया फिर बाद में धीरे-धीरे पुर्तगालियों ने अपना प्रभुत्व यहां आस-पास बनाने लगे।
  • ‌पुर्तगालियों से श्रीलंका निवासी घृणा करने लगे। सन 1630 में सभी पुर्तगालियों को डच लोगों ने मार गिराया।
  • ‌सन 1960 में जहाज में एक अंग्रेज गलती से श्रीलंका में पहुंचा उसे श्रीलंका के कैंडी के राजा ने कैद कर लिया और इसी वक्त उसने श्रीलंका के बारे में एक पुस्तक लिखी। वह अंग्रेज 29 साल तक रहा। और एक दिन जेल से भाग गया।
  • ‌इसके पश्चात अंग्रेजों का नजर से लंका पर पड़ा सन 1800 ई. के आते आते अंग्रेजों ने तटीय वाले क्षेत्र में कब्जा करना शुरू कर दिया।
  • ‌सन 1818 में कैंडी के राजा ने अंग्रेजों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया और अंग्रेजों ने इस तरह धीरे धीरे संपूर्ण श्री लंका पर अधिकार कर लिया।

श्रीलंका को आजादी कैसे मिली?

श्रीलंका में आजादी ( स्वतंत्रता ) की लड़ाई तथा आंदोलन बीसवीं सदी में ही शुरू हो गया था। यह आंदोलन शिक्षित मध्य वर्ग द्वारा शुरू किया गया था आखिरकार अंत में 4 फरवरी 1948 को श्रीलंका को आजादी मिली।

1972 से पहले श्रीलंका का क्या नाम था ?

1972 से पहले तक श्रीलंका का नाम सीलोन था। सन 1972 में लंका रखा है। इसके बाद 1978 में लंका शब्द के आगे 'श्री' जोड़ा गया और यह श्रीलंका हो गया।

श्री लंका किसका गुलाम था?

श्रीलंका सबसे पहले पुर्तगाल के गुलाम में था। फिर श्रीलंकाई डच लोगों ने उनको मार भगाया। फिर 1800 ई. के पश्चात अंग्रेजों के गुलाम हो गए।

श्रीलंका भारत से अलग कैसे हुआ ?

दरअसल श्रीलंका कभी भी भारत का हिस्सा नहीं रहा। श्रीलंका को सबसे पहले पुर्तगाल ने व्यापार के जरिए गुलाम बनाया इसके बाद पुर्तगाल के खदेड़े जाने पर अंग्रेजों ने लंका में आकर अपना शासन चलाने लगे।

              श्रीलंका ब्रिटिश भारत का एक शासक राज्य था ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा प्रशासित किया जाता था। अतः सवाल ही उत्पन्न नहीं होता कि श्रीलंका भारत से कैसे अलग हुआ। क्योंकि श्रीलंका केवल ' ब्रिटिश भारत' का शासन था।

श्रीलंका स्वतंत्र राष्ट्रीय कब बना?

श्रीलंका स्वतंत्र राष्ट्रीय 4 फरवरी 1948 को बना।

लंका का पहला राजा कौन था?

हिंदू धर्म ग्रंथ के अनुसार श्रीलंका का पहला राजा रावण ही था जिसे राम ने वध किया था। फिर रावण के मरने के पश्चात विभीषण को राजा बनाया गया।

श्री लंका का राज धर्म कौन सा है?

श्रीलंका का प्रमुख धर्म बौद्ध है इसके अलावा वहां हिंदू, मुस्लिम तथा क्रिश्चियन धर्म भी माना जाता है।

यह भी जानें 

नेपाल कब आजाद हुआ ?

नेपाल 25 सितम्बर 1768 को आजाद हुआ।

अन्तिम शब्द

हम उम्मीद करते हैं कि sri lanka kab azad hua date को तो आप जान ही चूके होंगे। इसके अलावा श्रीलंका का इतिहास एवं श्रीलंका को आजादी कैसे मिली यह भी बताया है।
यदि आपके मन में इससे संबंधित कोई सवाल हो तो हमे पूछ सकते हैं। और इसे अपने मित्रो के पास शेयर करें।

Post a Comment

और नया पुराने